नोएडा प्राधिकरण के नए CEO डा. लोकेश एम नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारियों की लेट-लतीफी वाली आदत से नाराज हो गए हैं। सीईओ ने दफ्तर में लेट आने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्ती करने का फैसला किया है।

0
नोएडा प्राधिकरण के नए CEO डा. लोकेश एम नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारियों की लेट-लतीफी वाली आदत से नाराज हो गए हैं। सीईओ ने दफ्तर में लेट आने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्ती करने का फैसला किया है।

नोएडा प्राधिकरण के नए CEO डा. लोकेश एम नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारियों की लेट-लतीफी वाली आदत से नाराज हो गए हैं। सीईओ ने दफ्तर में लेट आने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्ती करने का फैसला किया है।

नोएडा प्राधिकरण कोACEO. प्रभाष कुमार ने एक कार्यालय आदेश जारी किया है। यह आदेश नोएडा प्राधिकरण के नवनियुक्त सीईओ डा. लोकेश एम के निर्देश पर जारी किया गया है। बुधवार 2 अगस्त 2023 को जारी किए गए इस आदेश में नोएडा प्राधिकरण के सभी कर्मचारियों तथा विभागाध्यक्षों को सख्त चेतावनी दी गयी है

CEO के निर्देश के बाद नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ ने एक ताजा आदेश जारी किया है। इस आदेश में कहा गया है कि नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय में लेट आने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कि यदि वे सुबह 9.30 बजे के बाद कार्यालय में आते हैं तो उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। समय पर कार्यालय न पहुंचने वाले कर्मचारियों तथा ऐसे लेटलतीफ कर्मचारियों का पर्यवेक्षण न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश नोएडा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी (एसीईओ) प्रभाष कुमार ने जारी किए हैं।

तदोपरांत उस रिपोर्ट को प्राधिकरण बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया जायेगा| बोर्ड बैठक में लिये गए निर्णय के क्रम में अग्रिम कार्यवाही की जायेगी|

कार्मिक विभाग द्वारा जारी आदेश में एसीईओ ने कहा कि औद्योगिक विभाग में निरीक्षण के दौरान पाया गया कि कई कर्मचारी प्रात: 10 बजे तक कार्यालय में अनुपस्थित थे। जबकि कार्यालय में पहुंचने का समय 9.30 बजे निर्धारित है। उन्होंने कहा कि यह भी संज्ञान में आया है

CEO के निर्देश के बाद नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ ने एक ताजा आदेश जारी किया है। इस आदेश में कहा गया है कि नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय में लेट आने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 कि अधीनस्थ कर्मचारियों की लेटलतीफी का विभागाध्यक्ष पर्यवेक्षण भी नहीं करते हैं। उन्होंने सभी को चेतावनी देते हुए निर्देश दिये कि हर हालत में सभी कर्मचारी 9.30 बजे तक कार्यालय में उपस्थित हो जाएं। इसके अलावा उनके विभागाध्यक्ष देर से आने वाले कर्मचारियों की समय पर उपस्थिति दर्ज करवाएं। दोबारा इसकी पुनरावृत्ति होने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *